Select Page

‘उड़ान’ प्रोजेक्ट के जरिए सरकारी स्कूलों में बच्चों का बढ़ेगा सामान्य ज्ञान

‘उड़ान’ प्रोजेक्ट  के जरिए सरकारी स्कूलों में बच्चों का बढ़ेगा सामान्य ज्ञान

जनगाथा / होशियारपुर / विभागीय हिदायतों के अनुसार सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढोलवाहा के सभी अपर प्राइमरी  के छठी से बारहवीं क्लास के स्टूडेंट्स अब करंट टॉपिक्स से अपडेट होने के साथ अपना सामान्य ज्ञान बढ़ा रहे हैं । प्रिंसिपल ओंकार सिंह ने बताया कि सरकारी स्कूलों में शुरू हुए ‘उड़ान’ प्रोजेक्ट के जरिए वे न केवल शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं  बल्कि वे अपने विषयों के साथ-साथ देश-दुनिया में घटने वाली घटनाओं के साथ रोजाना रूबरू भी हो रहे हैं। शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों में उड़ान प्रोजेक्ट के जरिए बच्चों को अपडेट करने की योजना तैयार की है । स्कूल के अध्यापक नीरज धीमान , अमनदीप सिंह धामी ने बताया कि छठी से बारहवीं कक्षा तक के स्टूडेंटस को तीन हिस्सों में बांटा गया है। छठी से आठवीं, नौवीं से दसवीं व प्लस वन से प्लस टू तक के स्टूडेंटस प्रोजेक्ट में शामिल किए गए हैं । शिक्षा विभाग तीनों ग्रुपस के लिए रोजाना सामान्य ज्ञान व करंट टॉपिक्स के पांच सवाल अपलोड करता है। इसे स्कूल में डाउनलोड करके सुबह की असेंबली में स्टूडेंटस को बोलकर बताए जाने के साथ  ब्लैक बोर्ड पर लगाया जाता है। तीनों ग्रुपों के स्टूडेंट्स उनका जवाब एक दिन में ढूंढते हैं और उनका सही जवाब उनको दूसरे दिन स्कूल में आकर मिलता है ,जिसके जरिए वे अपने जवाब का मिलान कर सकेंगे कि उन्होंने एक दिन पहले हल किए सवाल ठीक तरह से हल किए थे या नहीं । स्टूडेंटस का महीने के अंत में कंपीटीशन भी करवाया जाएगा । अध्यापिका  पलविंदर कौर, रीमा, सुरेंद्र पालकौर,शिक्षा विभाग की ओर से छठी से दसवीं कक्षा के स्टूडेंट्स को दिए जाने वाले पांच सवाल 60 प्रतिशत तक सिलेबस से लिए जा रहे हैं, जबकि बाकी के 40 प्रतिशत सवाल जनरल नॉलेज के होते हैं। वहीं प्लस वन व प्लस टू कक्षा के सवाल जनरल नॉलेज व करंट टॉपिक्स के होते हैं। सवाल ऑबजेक्टिव टाइप , जिसके चार जवाब साथ होते हैं। स्टूडेंट को उनमें से सवाल का जवाब ढूंढने होते हैं। दिए गए चारों जवाब में से एक ही उक्त सवाल का जवाब होता है । इस दौरान कुलविंदर कौर गुरमीत कौर हरभजन कौर के अलावा स्कूल स्टाफ उपस्थित था।

फोटो कैप्शन: सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढोलवाहा मैं प्रोजेक्ट उड़ान के तहत प्रशन लिखते विद्यार्थी।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.