Select Page

पंजाब का पहला ‘बालिका मंच’ होशियारपुर में स्थापित, डीसी ने किया उद्घाटन

पंजाब का पहला ‘बालिका मंच’ होशियारपुर में स्थापित, डीसी ने किया उद्घाटन

जनगाथा / होशियारपुर ।
जिला होशियारपुर में पंजाब का पहला बालिका मंच स्थापित हो गया है और यह मंच जहां घरेलु हिंसा को रोकने में कामयाब होगा वही स्कूलों मेंं पढऩे वाली लड़कियों को सुरक्षित माहौल मुहैय्या करवाने में मोहरी भूमिका निभाएगा। इन शब्दों का प्रगटावा डिप्टी कमिश्नर श्री विपुल उज्जवल ने सरकारी सीनियर सेेकेंडरी स्कूल खडक़ां में बालिका मंच की स्थापना करने के दौरान किया। उन्होंने कहा कि महिला व बाल विकास मंत्रालय की ओर से चलाई जा रही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के अधीन बालिका मंच का संकल्प लड़कियों के सर्वपक्षीय विकास के लिए एक मील पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि अगर कोई बच्चा अपने घर में घरेलू हिंसा देखता है तो वे इस बालिका मंच को जानकारी देने से गुरेज न करें। क्योंकि इस जानकारी से घरेलु हिंसा रोकने में अहम भूमिका निभाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूल खडक़ां का यह बालिका मंच एक मिसाल कायम करेगा।
श्री विपुल उज्जवल ने कहा कि इस मंच के द्वारा लड़कियों के भीतर डर की भावना निकाली जाएगी ताकि वे बिना किसी डर के शिक्षा हासिल करके उच्च मुकाम तक पहुंच सकें। उन्होंने कहा कि शिक्षा से ही लड़कियां आर्थिक विकास हासिल कर सकती है और समाज में उच्चा रुतबा प्राप्त कर सकती है। इस के लिए लड़कियों के पढ़ाई के साथ साथ बालिका मंच जैसी संस्थाओं में शामिल हो कर अपनी प्रतिभा को उजागर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि खडक़ां स्कूल के इस बालिका मंच के बाद जिले के बाकी हाई तथा सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में भी इस का निर्माण किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस मंच में छात्राओं को ही शामिल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस मंच से सेहत, शिक्षा, पुलिस तथा महिला व बाल विकास विभाग के अधिकारी, कर्मचारी सीधा राबता कायम करेंगे। उन्होंने कहा कि लड़कियां कुछ भी कर सकती है इस के लिए वे अपने अध्यापक को रोल माडल बना कर स त मेहनत करें। इस के साथ साथ वे घरेलू हिंसा तथा किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ संबंधी बालिका मंच को बताए ताकि जो स त कानूनी कारवाई अमल में लाई जा सकें तथा लड़कियों को सुरक्षित माहौल दिया जा सकें।
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि यह मंच स्थापित होने से जहां लड़कियां सहज महसूस करेंगी वही वे किसी भी तरह की घटना संबंधी खुल कर बता सकेंगी। उन्होंने कहा कि छेड़छाड़ जैसी घटनाओं को रोकने के लिए जिला प्रशासन स ती से कदम उठाएगा ताकि स्कूल में पढऩे वाली लड़कियों को किसी भी तरह की समस्याओं का सामना न करना पड़े। उन्होंने पुलिस व शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि आपसी तालमेल से स्कूलों में पढऩे वाली लड़कियों के भीतर जागरुकता लाई जाए कि अगर उनके साथ किसी भी तरह की कोई गलत हरकत करता है या फब्तियां कसता है तो उसके बारे बिना किसी डर तथा भय के बताया जाए।
इस मौके पर जिला प्रोग्राम अफसर डा. कुलदीप सिंह, जिला बाल सुरक्षा अफसर डा. हरप्रीत कौर, जिला शिक्षा अफसर (स) मोहन सिंह लेहल, बाल विकास प्रौजेक्ट अफसर रणजीत कौर, प्रिंसीपल सरकारी स्कूल खडक़ां सतवंंत कौर, सहायक फूड व सिविल सप्लाई अफसर अमित कुमार भट्टी के अलावा अन्य भी मौजूद थे।
सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल खडक़ां के बालिका मंच की रुप रेखा
बाहरवीं कक्षा की छात्रा दीक्षा चेयरपर्सन, अध्यापक कुलदीप कौर कनवीनर, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी की सदस्य जसबीर कौर के अलावा बाकी सदस्यों में स्कूल की छात्राओं तानीया, कुमारी मनीशा, तारा, तनू, साक्शी तथा मनीशा शामिल है। मंच में छठीं कक्षा से बाहरवीं कक्षा तक की छात्राओं को शामिल किया गया है तथा इस बालिका मंच के कुल 9 सदस्य है।

 

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *