Select Page

जल विभाग सोया कुंभकरनी नींद- पानी की पाइपें हुई लीक ,घरों की नींवें नीचे धसी

जल विभाग सोया कुंभकरनी नींद- पानी की पाइपें हुई लीक ,घरों की नींवें नीचे धसी

सेखों। जनगाथा । गढ़शंकर। इस तहसील के गांव रामपुर विलड़ों में पीने वाले पानी की मेन लाइन की लगातार हो रही लीके से साथ लगते घरों की नीवें नीचे धस चुकी हैं जिससे घरों के गिरने के हालात बन गए है । घरों के मालिकों के अनुसार उन्होनें कई बार पाइपों के लीकेज का मामला जल सप्लाई व सेनीटेश्न विभाग के ध्यान में लाया गया है पर इसके सबंध में विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं होने कारण उनके घरों की दीवारें नीचे धस गई हैं और उनका लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है । इस सबंध में ब्लॉक सम्मति के पूर्व सद्स्य डॉ.केवल , मैंबर पचायत खेमराज , मैंबर पंचायत दर्शी, महिंदरपाल सिंह, जीतो, महिंदर कौर, सोमनाथ, लक्की आदि मोहल्ला वासियों ने कहा कि पानी की यह पाइपें पिछले कई महीनों से लीक हो रही है पर इस तरफ किसी भी अधिकारी ने कोई भी ध्यान नहीं दिया । उन्होनें कहा कि मोहल्ला वासियों ने खुद गली को खोद कर देखा कि यह पाइप पूरी तरह से टूट चुकी थी जिससे उनके घरों की नींवे नीचे धस चुकी है। उन्होने बताया है कि पाइप के टूटने से ही पीने वाला पानी का रंग गंधला है। उन्होनें यह भी कहा कि विभाग के गढ़शंकर सब-डिवीजन के लेंडलाइन न.पर संपर्क करने से कोई भी कार्रवाई नहीं हुई । लोगों की मुश्किलें जैसी की तैसी बनी हुई है ।  इस सबंध में मकान मालिकों अमरजीत सिंह व बलविंदर सिंह ने बताया कि पाइपों का लीकेज वाला पानी जब उनके घरों के फर्शो में सिमने लगा तो उन्हें पता चला कि पानी लीक कर रहा है। उन्होनें कहा कि पिछले दो महीनों में विभाग के कर्मचारी इस तरफ कोई भी ध्यान नहीं दे रहें जिस कारण उन्हें मकान गिरने केडर से दूसरे घरों में शरण लेनी पड़ रही है । पीड़त परिवारों ने कहा कि वह इस सबंध में अदालत का सहारा लेने जा रहे हैं और जल सप्लाई विभाग की इस लापरवाही से हुए नुकसान की भरपाई लेने का केस दर्ज करवाएगें । इस मौके पर डॉ. केवल ने कहा कि गलियों में पाइपें के फटने से प्रदूषित पानी की सप्लाई होती है और लोगों के स्वास्थ से भी खिलवाड़ किया जा रहा है। इस सबंध में जल सप्लाई व सेनीटेश्न विभाग के स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि विभाग में इस डिवीजन में कोई जेई नहीं है और एसडीओ का पद भी रिक्त है इस बारे विभाग के एक्सीयन लाल चंद ने कहा कि यह मसला जल्द ही हल करवा देगें । उन्होनें सब-डिवीजन में कर्मचारी न होने के सबंध में किए सवाल को टाल दिया ।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *