Select Page

श्री अकाल तख्त ने लिया बड़ा फैसला, सुच्चा सिंह लंगाह सिख कौम से निष्कासित

श्री अकाल तख्त ने लिया बड़ा फैसला, सुच्चा सिंह लंगाह सिख कौम से निष्कासित
जनगाथा/ अमृतसर / शिरोमणि कमेटी के पूर्व सदस्य और दुराचार मामले में आरोपी अकाली नेता सुच्चा सिंह लंगाह को सिख पंथ से निष्कासित कर दिया गया है। यह फैसला श्री अकाल तख्त साहिब पर वीरवार को हुई पांच सिंह साहिबान की बैठक में लिया गया।
अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने पांच सिंह साहिबान की मौजूदगी में श्री अकाल तख्त साहिब की ड्योढ़ी से हुक्मनामा जारी किया कि कोई भी सुच्चा सिंह लंगाह के साथ सिख रोटी—बेटी की सांझ न रखे। अगर लंगाह किसी भी धार्मिक संस्थान के किसी पद पर हैं, तो उन्हें तुरंत हटाया जाए। उनके नाम की अरदास किसी भी गुरुद्वारा साहिब में न की जाए।

लंगाह ने सिख कौम के विश्वास को ठेस पहुंचाई
श्री अकाल तख्त साहिब से हुक्मनामा जारी करने के बाद मीडिया से बातचीत में ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि इलेक्ट्रानिक, प्रिंट मीडिया, सोशल मीडिया, देश-विदेश में रहने वाली सिख संगत की ओर से टेलीफोन और लिखित रूप में भेजी गई शिकायतों को मुख्य रखते हुए लंगाह को कौम से निष्कासित किया गया है। लंगाह की हरकत ने सिख कौम के विश्वास को ठेस पहुंचाई है। यह फैसला सिख संगत की भावनाओं को मुख्य रखते हुए लिया गया है।

धार्मिक सलाहकार कमेटी से की बैठक
आदेश सुनाने से पहले पांच सिंह साहिबान ने एसजीपीसी की ओर से बनाई गई 11 सदस्यों की धार्मिक सलाहकार कमेटी के साथ भी बैठक की। हालांकि बैठक में सात सदस्य मौजूद थे जिन्होंने लंगाह के मामले में अपने विचार रखे। वीरवार को हुई बैठक में श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह, दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह, पटना साहिब के जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह, केसगढ़ साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघुबीर सिंह और एडिशनल हेड ग्रंथी ज्ञानी जगतार सिंह शामिल हुए।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *