Select Page

बादल के संगत दर्शन प्रोग्राम पर हुए खर्चे व चैकों संबंधी प्रशासन नहीं दे रहा सूचना

बादल के संगत दर्शन प्रोग्राम पर हुए खर्चे व चैकों संबंधी प्रशासन नहीं दे रहा सूचना

बादल के संगत दर्शन प्रोग्राम पर हुए खर्चे व चैकों संबंधी प्रशासन नहीं दे रहा सूचना
सूचना न मिलने पर दोषी अधिकारीयों को दिलवाऊंगा कानून अनुसार सजा – एडवोकेट नवीन जैरथ
होशियारपुर, आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य एडवोकेट नवीन जैरथ ने कहा कि 09-08-2016 को पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा जो होशियारपुर में 2 दिन का संगत दर्शन किया गया था, उस संगत दर्शन पर प्रशासन द्वारा जितना भी खर्च किया गया उस बारे में उन्होंने आर.टी.आई. के माध्यम से जिलाधीश के कार्यालय से जानकारी 20 अगस्त को मांगी थी। यह जानकारी आर.टी.आई. की धाराओं के अनुसार हर हालत मेें 1 महीने के भीतर दी जानी थी पर दुख की बात है कि आज तक उन्होंने जो जानकारी मांगी थी, या तो वो दी नहीं गई, या फिर यह जानकारी अधूरी है। जैरथ ने बताया कि उन्होंने प्रमुख रू प से अपने पत्र के पैरा 5-सी. के तहत प्रमुख रू प से यह जानकारी मांगी थी कि उन्हें बताया जाए कि मुख्यमंत्री के संगत दर्शन पर प्रशासन द्वारा कुल कितने रु पए खर्च किए गए हैं? उन्होंने यह भी जानकारी मांगी थी कि संगत दर्शन के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा कुल कितने विभागों को विकास कार्यों के लिए कुल कितने चैक बांटे गए थे, उनकी फोटोस्टेट कापियां उन्हें सप्लाई की जाएं पर प्रशासन द्वारा आज इस संबंधी मांगी गई जानकारी के लगभग 53 दिन बीतने के बाद भी उन्हें इस संबंधी कोई जानकारी नहीं दी गई। जो जानकारी उन्हें दी गई है वह मुख्यमंत्री के 2 दिन के संगत दर्शन कार्यक्र म के टाईम टेबल से संबंधित ही है।
जैरथ ने बताया कि जानकारी मांगने के बाद उन्हें एक पत्र नं. 157-ए, 01 सितम्बर, 2016 का आर.टी.आई. शाखा जिलाधीश होशियारपुर से प्राप्त हुआ। इसके बाद एक पत्र नं. 12855, तिथि 06-09-2016 का लोक सूचना अफ्सर डिप्टी कमिश्नर दफ्तर होशियारपुर की तरफ से प्राप्त हुआ। उसके बाद एक पत्र नं. 3583, तिथि 12 सितम्बर, 2016 का जिला विकास एवं पंचायत अफ्सर होशियारपुर की तरफ से प्राप्त हुआ। इसके बाद पत्र नं. 2115, तिथि 15-09-2016 का दफ्तर नगर निगम होशियारपुर की तरफ से व इसके बात अंतिम पत्र नं. 1208, 19-09-2016 का लोक सूचना अफसर डिप्टी कमिश्नर होशियारपुर की तरफ से प्राप्त हुआ। इन सभी पत्रों में सबसे बड़ी हैरानी व दुख की बात यह थी कि आज तक भी किसी दफतर द्वारा मुख्यमंत्री के संगत दर्शन पर हुए खर्चे व चैकों संबंधी जानकारी न देते हुए केवल मुख्यमंत्री का होशियारपुर दौरे का शैड्यूल भेजकर मजाक किया जा रहा है। जैरथ ने कहा कि यह सूचना उन्होंने अपने किसी निजी हित में नहीं मांगी थी बल्कि साथारण जनता के हक में मांगी थी लेकिन प्रशासन द्वारा इस मामले को खिलवाड़ बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि इस मामले में बनती सूचना उन्हें तुरंत सप्लाई नहीं की गई तो वह जहां इस मामले की अपील करेंगे वहीं दोषी अफसरों को कानून अनुसार सजा दिलवाने की भी पूरी कोशिश करेंगे।
फोटो-आर.टी.आई. के तहत मांगी सूचना के संबंधी जानकारी देते हुए ‘आप’ की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य एडवोकेट नवीन जैरथ।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *