Select Page

अस्पताल पहुंचाने के बहाने घायल को फैंक कर भागे आरोपी, मौत, दो नामजद

अस्पताल पहुंचाने के बहाने घायल को फैंक कर भागे आरोपी, मौत, दो नामजद

अस्पताल पहुंचाने के बहाने घायल को फैंक कर भागे आरोपी, मौत, दो नामजद

-दो दिन तक परिवार वाले ढूंढते रहे घायल

-कार ट्रेस कर एक किया गिरफ्तार, निशानदेही पर पुलिया के नीचे से शव किया बरामद

होशियारपुर।

कार से टक्कर मारने के बाद घायल को अस्पताल लेकर जाने के बहाने एक पुलिया के नीचे फैंक गए और मौके से फरार होने का एक सनसनी खेज मामला सामने आया है। बुल्लोवाल पुिलस ने इस मामले में हालांकि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है परंतु इस मामले में मुख्य आरोपी अभी फरार चल रहा है और पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। आरोपियों की पहचान जगसीर सिंह पुत्र दिलबाग सिंह निवासी न्यू चंडीगढ़ कालोनी, कोटकपूरा रोड़, मोगा और बलवीर पुत्र लाल चंद िनवासी वार्ड नंबर 19 मोगा के रुप में हुई है। जबकि मृतक की पहचान स्वर्ण चंद (55) पुत्र बंता राम निवासी शेरपुर गुलिंड के रुप में हुई है। अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद स्वर्ण सिंह का शव लेने पहुंचे उसके भतीजे सतनाम सिंह पुत्र देवराज ने बताया कि उसके चाचा स्वर्ण सिंह इलैक्ट्रिशियन थे और गत दिवस किसी काम से नसराला किसी काम पर गए थे और रास्ते में जगसीर जोकि स्वीप्ट िडजायर में था ने उसे टक्कर मार दी और वह गंभीर रुप से घायल हो गए। टक्कर लगने के बाद पहले तो जगसीर ने गाड़ी भगाने की कोशिश की परंतु मौके पर मौजूद लोगों ने गाड़ी रोक ली और जगसीर ने बड़ी चालाकी से गंभीर रुप से घायल स्वर्ण सिंह को गाड़ी में डाल लिया और चकमा देकर यह कहकर ले गया कि वह समय रहते उन्हें अस्पताल पहुंचा रहा है और परिवार वाले भी तुरंत अस्पताल पहुंच जाएं। जगसीर अपने साथे बलवीर के साथ स्वर्ण सिंह को लेकर निकल गया। परंतु रास्ते में स्वर्ण सिंह की मौत हो गई और अस्पताल पहुंचाने की जगह जगसीर अपनी गाड़ी टांडा रोड़ की तरफ ले गया और रास्ते में पुलिया के नीचे स्वर्ण सिंह के शव को फैंक कर मौके से फरार हो गया।

दो दिन तक ढूंढते रहे स्वर्ण सिंह को

इस दौरान परिवार वाले उधर सिविल अस्पताल पहुंच गए परंतु वहां पर स्वर्ण सिंह मौजूद नहीं था, उसके बाद वह कई प्राईवेट अस्पतालों में ढूंढते रहे परंतु स्वर्ण सिंह का कहीं अता पता नहीं लगा। जिसके बाद उन्होंने थाना बुल्लोवाल की चौंकी मंडियाला में अपनी शिकायत दर्ज करवाई और उसके बाद एसआई हरजिंदर सिंह ने हरकत में आते हुए गाड़ी नंबर पीबी 29आर 2188 ट्रेस किया तो पता चला कि आरोपी मोगा के रहने वाले हैं, पुलिस ने तुरंत मोगा में दबिश दी और एक आरोपी बलवीर सिंह को काबू कर लिया और उसकी निशान देही पर टांडा रोड़ पर पड़ते गांव फतेहपुर के पास एक पुली के नीचे से लाश बरामद की और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवा दिया।

जगसीर अभी भी फरार

जानकारी देते हुए एसआई हरजिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ स्वर्ण सिंह के भतीजे के बयानों के आधार पर धारा 304, 279, 201, 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि जगसीर सिंह अभी भी फरार चल रहा है और गाड़ी कब्जे में ले ली गई है। उन्होंने बताया कि बलवीर की निशानदेही पर शव बरामद कर पोस्टमार्टम कर परिवार वालों को सौंप दिया गया है और जगसीर की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *