मोदी सरकार किसान हितैषी 2024 तक किसानों की आमदन होगी दुगनी : तीक्ष्ण सूद

    0
    50

    होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (सिमरन)

    केंद्र की मोदी सरकार द्वारा गेहूं का 50 रुपए तथा धान की फसल का 72 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाकर घोषित करने का भाजपा नेताओं द्वारा जारी प्रेस नोट में स्वागत किया गया। पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद, पंजाब पंचायती राज सैल्ल प्रधान विजय पठानिया, जिला अध्यक्ष निपुण शर्मा ने अपने व्यकव्य में कहा हैं कि केंद्र सरकार द्वारा खेती में विभिन्नता लाने के लिए भी गैर रिवायती फसलों के न्यूनतम मूल्य में भी भारी वृद्धि की गई हैं। उन्होंने कहा कि पिछले समय में आमतौर पर फसलों की बजाई के बाद ही न्यूनतम मूल्य घोषित किया जाता था। मोदी सरकार ने स्वामीनाथन कमीशन की सिफारिशों के अनुसार फसलों की कीमतों को आधार मानकर समर्थन मूल्य में भारी बढ़ोतरी की हैं। उन्होंने कहा कि समय पर की गई बढ़ोतरी से किसान अपने खेत में किस फसल को बीजे उन्हें चुनना आसान हो जाएगा।

    तीक्षण सूद ने कहा कि मोदी सरकार किसानों की हितैषी सरकार हैं तथा प्रत्येक किसान के खाते में अपने आप 6000 रुपए सलाना किसान सम्मान निधि की रकम डाली जा रही हैं। वेची गई फसल की कीमत भी 2 से 3 दिन में ही सीधे किसान के खाते में जाती हैं। मोदी सरकार के कार्यकाल में यूरिया लेने के लिए किसानों को किसी भी लाइन में नहीं लगना पड़ता। मिट्टी की सेहत मुफ्त में परखी जाती हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डी.ए.पी खाद के मूल्यों में भारी वृद्धि के बावजूद भी केंद्र सरकार ने 1200 रुपए प्रति बोरा सब्सिडी देकर किसानों पर नया बोझ नहीं पड़ने दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के प्रयासों से 2024 तक किसानों की आमदनी अवश्य दुगनी होगी। भाजपा नेताओं ने किसान आंदोलन के नेताओं से भी अपील की हैं कि वह किसानों के हित में सरकार के साथ मिल बैठकर फैसला करने की पहल करें तथा कानून रद्द करने को प्रतिष्ठा का सवाल ना बनाएं, क्योंकि केंद्र सरकार उनकी अन्य सभी मांगों पर सहानुभूति से विचार करने को तैयार हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here