मालखाने का गुप्त डाका हुआ बेनकाब, 3 पिस्तौलों सहित आरोपी गिरफ्तार

    0
    71

    जनगाथा / बटाला / बटाला पुलिस को लेकर ‘पंजाब केसरी’ द्वारा प्रकाशित की गई सनसनी खेज खबर पर मोहर लग गई है। आनन-फानन में पुलिस ने प्रैस कॉन्फ्रैंस करके मालखाने में हथियारों की हुई गुप्त लूट को बेनकाब कर दिया है।  पुलिस ने 3  हथियारों सहित आरोपि.यों को गिरफ्तार कर लिया है।

    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उक्त मामले की जांच गंभीरता से जारी है और बाकी खुलासा जांच खत्म होने के बाद किया जाएगा। पुलिस विभाग के मालखाने में हुई गुप्त लूट का मामला बहुत ही गंभीर था लेकिन इसके बावजूद आला अधिकारियों ने प्रैस कॉन्फ्रैंस करनी किसी ने जरूरी नहीं समझी और डी.एस.पी. रैंक के अधिकारी द्वारा प्रैस नोट जारी करने के साथ-साथ प्रैस कॉन्फ्रैंस में सिर्फ एस.एच.ओ. स्तर का अधिकारी ही सामने आया है।

    बलजोत सिंह व तेजिन्द्र सिंह मालखाने से हथियार चोरी करके आगे बेच देते हैं : मालखाना अधिकारी
    गिरफ्तार किए गए मालखाना अधिकारी ने पूछताछ के दौरान माना कि येहथियार उसके लड़के बलजोत सिंह और निकटवर्ती रिश्तेदार तेजिन्द्र सिंह उर्फ साबी पुत्र जसविन्द्र सिंह निवासी काहनूवान रोड बटाला मिलकर मालखाने से चोरी करके आगे बेच देते हैं।  डी.एस.पी. के प्रैस नोट में बताया गया कि उक्त पकड़े गए लोगों की निशानदेही के आधार पर ही पुलिस ने गुरमीत सिंह उर्फ गोल्डी पुत्र अवतार सिंह निवासी लंबी गली सिंबल चौक बटाला को गिरफ्तार किया जिसने पूछताछ के दौरान कुछ अन्य लोगों के नाम उगले।

    असला चोरी कांड की तारें पूरे माझे में जुड़ी हैं
    बटाला के मालखाने में घटित बड़ी घटना ने जहां बटाला पुलिस को बैकफुट पर धकेल दिया है, वहीं यह भी पता चला है कि अब तक हुई जांच में मालखाने के असला चोरी कांड की तारें पूरे माझे में जुड़ी हैं और खतरा  जाहिर किया जा रहा है कि जिस दलेराना अंदाज में थानेदार के बेटे द्वारा गुप्त डाके को अंजाम दिया गया है, उससे संकेत मिल रहे हैं कि शायद उक्त पिस्तौल कांड पूरे पंजाब के साथ-साथ बाहर भी फैला हो।

    क्या गुप्त डाके के पिस्तौल गैंगस्टरों तक भी पहुंचे हैं? 

    उक्त घटना से भारी चिंतित बटाला पुलिस हाल की घड़ी खुल कर कुछ भी कहने की स्थिति में नही है लेकिन इसके बावजूद जबरदस्त चर्चा है कि क्या मास्टरमाइंड लड़के ने जो पिस्तौल बेचे हैं, वे छोटे-बड़े बदमाशों या उसके फ्रैंड सॢकल में गए हैं, या फिर उक्त पिस्तौल इन दिनों जानलेवा साबित हो रहे गैंगस्टरों तक पहुंच चुके हैं। यदि ऐसा हुआ होगा तो फिर अवैध पिस्तौलों से किसी बड़ी घटना के घटने से इंकार नहीं किया जा सकता।

    ये हैं गिरफ्तार आरोपी
    *बलजोत सिंह
    *लवप्रीत सिंह उर्फ भोली
    *लवदीप सिंह उर्फ लवी
    *जसजीत सिंह
    *नवरूप सिंह
    *तेजिंद्र सिंह

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here