बिना रोक-टोक सरेआम चलने वाले जुए का अड्डा बना बटाला

    0
    60

    जनगाथा  /  बटाला  /  ऐतिहासिक, साहित्यिक व औद्योगिक शहर बटाला में बिना रोक-टोक सरेआम चल रहा जुआ जहां हंसते घरों को तबाही व बर्बादी के किनारे खड़ा कर रहा है, वहीं सामाजिक बुराइयों व आपराधिक गतिविधियों को भी जन्म दे रहा है लेकिन आश्चर्य की बात है कि सरेआम चल रहा जुआ बटाला पुलिस को नजर क्यों नहीं आ रहा।  शहर के शुभचिंतक व अच्छे लोगों द्वारा पुलिस को सरेआम चल रहे जुए को रोकने हेतु कहा भी जा रहा है लेकिन पुलिस फिर भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही जिस कारण बटाला पुलिस की बेहद ढीली कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान भी लगता नजर आ रहा है।

    किन-किन क्षेत्रों में चल रहा है सरेआम जुआ
    शहर के जिन प्रमुख क्षेत्रों में बिना किसी भय के सरेआम जुआ चल रहा है उनमें उमरपुरा, हाथी गेट, मुर्गी मोहल्ला, राम बाग, फैजपुरा, रेलवे लाइनों का क्षेत्र, हंसली नाले का किनारा, गांधी कैम्प, प्रेम नगर बोहड़ावाल, डेरा रोड, मंडी क्षेत्र व शहर के अंदरूनी क्षेत्र शामिल हैं।

    जुआ रोकने की अपेक्षा एक-दूसरे के पुलिस स्टेशन का क्षेत्र बताकर पुलिस झाड़ रही है पल्ला
    शहर के विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे जुए के अवैध कारोबार को रोकने के लिए जब शहर के गण्यमान्य नागरिकों द्वारा पुलिस को जुआ रोकने हेतु कहा जाता है तो विभिन्न पुलिस स्टेशनों की पुलिस उक्त क्षेत्र को अपने क्षेत्राधिकार में शामिल न होने की दुहाई देते हुए इस क्षेत्र को दूसरे पुलिस स्टेशन में होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लेती है जिस कारण शहर के शुभङ्क्षचतक लोगों को पुलिस के इस व्यवहार को देखकर निराशा का सामना करना पड़ रहा है जबकि सरेआम चल रहा जुआ इसी कारण जस का तस चल रहा है।

    क्या कहना है समाज सेवक व शहर के शुभचिंतक नेताओं का
    सरेआम चल रहे जुए को रोकने के लिए जिला पुलिस को अपील करते हुए समाज सेवक डा. सतनाम सिंह निज्जर, राजिन्द्रपाल सिंह धालीवाल, हरसिमरन सिंह हीरा वालिया, सुखदीप सिंह सुख तेजा, हरमनजीत गोराया, नवतेज सिंह गुग्गू, मनजिन्द्र सिंह बल, शैरी कलसी सहित अन्य शहर निवासियों ने कहा कि पुलिस को सख्ती से इस सामाजिक बुराई को समाप्त करना चाहिए। जिला पुलिस मुखी बटाला को जुआ रोकने के लिए ठोस व सख्त कदम उठाने की बेहद जरूरत है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here