डोर टू डोर डेंगू सर्वे टीम के साथ दुव्र्यवहार नहीं किया जाएगा बर्दाश्त: अपनीत रियात

0
101

होशियारपुर : जिला प्रशासन की ओर से डेंगू रोकथाम के लिए नियुक्त की गई डेंगू सर्विलेंस टीम के एक वालंटियर पर हमले के आरोपी में आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया गया है। डेंगू सर्विलेंस टीम की वालंटियर रमनप्रीत निवासी पुरहीरां ने बताया कि वह डेंगू सर्वे के दौरान वालंटियर के तौर पर सेवा निभा रही है और इसी कड़ी में वह 6 अक्टूबर को अपने अन्य वालंटियर साथियों के साथ गौतम नगर में सर्वे कर रही थी। इस दौरान उसने गौतम नगर गली नंबर 5 के सामने एक घर, जिसके बाहर चाय की दुकान थी का सर्वे किया तो वहं लारवा पाया गया। इस संबंध में उसने घर में मौजूद संगीता को बताया कि डेंगू सीजन में घर में लारवा होना नुकसान कर सकता है व इस लिए वह घर के सभी कंटेनरों को साफ करे। इतने में संगीता तैश व गुस्से में आ गई व डंडे से उस पर हमला कर दिया। उसके बाद उसकी बेटी मोहित भी घर से बाहर आ गई और उसने भी उसके साथ मारपीट शुरु कर दी, अपशब्द बोले व उसे सडक़ पर धक्का दे दिया, जिसके कारण वह एक वाहन के नीचे आने से बाल-बाल बची। इस दौरान अन्य वालंटियर साथियों ने आकर उसे बचाया।  रमनप्रीत की शिकायत पर थाना सिटी पुलिस ने आरोपी संगीता व उसकी बेटी मोहित के खिलाफ आई.पी.सी के एक्ट 1860 की धारा 186,353,332 के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
दूसरी ओर से डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने इस घटना का कड़ा नोटिस लेते हुए कहा कि डेंगू सर्विलेंस टीम के साथ दुव्र्यवहार किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन  लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए डेंगू रोकथाम के लिए सर्वे करवा रहा है ताकि लोगों को डेंगू के खतरे से बचाया जा सके लेकिन ऐसी घटनाओं से सर्वे करने वाली स्टाफ के मनोबल पर बुरा प्रभाव पड़ता है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए डेंगू से संबंधित ड्यूटी कर रहे स्टाफ के साथ सहयोग करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सबके सहयोग की जरुरत है, ताकि हम सभी स्वस्थ रह सके। उन्होंने कहा कि अगर डेंगू सर्विलेंस टीम के साथ दुव्र्यवहार का मामला दोबारा सामने आया तो संबंधित के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन घरों में डेंगू का लारवा पाया गया, उनके चालान भी किए जा रहे हैं। उन्होंने टीम की ओर से किए गए कार्य की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी ओर से डोर टू डोर सर्वे के चलते कई स्थानों पर डेंगू फैलाव पर पहले ही नियंत्रण पा लिया गया है।
अपनीत रियात ने कहा कि जिले में डेंगू विशेषकर होशियारपुर शहर में काफी ज्यादा फैल गया है, इस लिए हम सभी को काफी सावधानी अपनाने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि डेंगू से निपटने के लिए हर व्यक्ति  का जागरु क होना बहुत जरु री है व जागरु कता से ही इस बीमारी की दस्तक को रोका जा सकता है क्योंकि डेंगू की रोकथाम केवल सरकार के प्रयास से नहीं बल्कि हर जिला निवासी के सहयोग से ही की जा सकती है, जिसके लिए वे अपनी जिम्मेदारी समझ कर अपना घर और आस-पास साफ रखें। उन्होंने बताया कि मिशन तंदुरु स्त पंजाब के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम, नगर परिषदों की टीमों के द्वारा बड़े स्तर पर फागिंग, घरों की चैकिंग कर जागरु कता फैलाने के साथ-साथ डेंगू के लारवे की जांच भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि डेंगू मच्छर के काटने से फैलता है व यह मच्छर खड़े पानी में पैदा होते हैं, इस लिए घरों के आस-पास पानी एकत्र न होने दिया जाए, छप्पड़ों या खड़े पानी में काले तेल का छिडक़ाव किया जाए, ताकि मच्छर का लारवा पैदा ही न हो सके। उन्होंने बताया कि मच्छर के काटने से बचने के लिए दिन के समय पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहने जाएं, सोने के समय मच्छरदानी व मच्छर भगाने वाली क्रीमों या तेल का उपयोग करना चाहिए। यदि किसी को कंपकपी के साथ तेज बुखार, तेज सिरदर्द या जोड़ों में दर्द आदि हो तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर तुरंत संपर्क किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here