डेंगू से बचाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं डेंगू सर्विलेंस टीम: अपनीत रियात

    0
    54

    होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (रुपिंदर)

    डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने कहा कि घर-घर जाकर डेंगू के लारवा को चैक कर रही डेंगू सर्विलेंस टीम डेंगू से बचाव संबंधी अहम भूमिका अदा कर रही हैं, जिससे जहां डेंगू का लारवा नष्ट हो रहा हैं वहीं लोग भी जागरुक हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले आठ दिन में 60 सदस्यीय टीम ने 13572 घरों की चैकिंग कर 784 घरों में पाए गए लारवा को नष्ट करवाया हैं, इसी तरह 91708 कंटेनर चैक कर किए 833 कंटेनरों में लारवा को नष्ट करवाया गया। उन्होंने टीम की ओर से किए गए कार्य की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी ओर से घर-घर की जा रही चैकिंग के चलते कई स्थानों पर डेंगू फैलाव पर पहले ही नियंत्रण पा लिया गया हैं।

    इस कड़ी में आज डेंगू सर्विलेंस टीम की ओर से डिप्टी कमिश्नर की रिहायश की भी चैकिंग की गई व उनके रिहायश पर तैनात स्टाफ को डेंगू से बचाव संबंधी जागरुक भी किया गया। डिप्टी कमिश्नर की ओर से इस दौरान डेंगू सर्विलेंस टीम की हौंसला आफजाई करते हुए उनकी ओर से किए जा रहे कार्यों पर संतुष्टि जाहिर की और उन्हें इसी तरह घर-घर जाकर लोगों को डेंगू से बचाव संबंधी जागरुक करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए डेंगू से संबंधित ड्यूटी कर रहे स्टाफ के साथ सहयोग करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सबके सहयोग की जरुरत हैं, ताकि हम सभी स्वस्थ रह सके। उन्होंने कहा कि यह वालंटियर लोगों की सुरक्षा के लिए ही सर्वे कर रहे हैं, इस लिए किसी भी तरह का दुव्र्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

    डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने बताया कि डेंगू से बचाव के लिए सावधानियां अपनाना बहुत जरुरी हैं। उन्होंने बताया कि डेंगू का मच्छर सप्ताह में अंडे से पूरा मच्छर बनता हैं, इस लिए कूलरों, गमलों, फ्रिजों की ट्रे व अन्य पानी के बर्तनों को सप्ताह के हर शुक्रवार साफ किया जाए। इसके अलावा उन्होंने कोविड-19 से बचाव के लिए सामाजिक दूरी बरकरार रखते हुए मास्क व समय-समय पर हाथों को साबुन से अच्छी तरह साफ करने की भी अपील की। उन्होंने बताया कि डेंगू का मच्छर खड़े पानी में पैदा होता हैं, इस लिए घरों के आस-पास पानी एकत्र न होने दिया जाए। इसके अलावा छप्पड़ों व खड़े पानी में काले तेल का छिडक़ाव किया जाए, ताकि मच्छरों का लारवा पैदा ही न होने हो सकें। उन्होंने बताया कि मच्छर के काटने से बचने के लिए दिन के समय पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पाए जाएं, सोते समय मच्छरदानी व मच्छर भगाने वाली क्रीमों का प्रयोग किया जाए। उन्होंने बताया कि यदि किसी को तेज बुखार, सिर दर्द या जोड़ों का दर्द आदि हो तो वह नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें।

     

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here