डेंगू की वॉलन्टियर महिला को डंडों से पीटा , घर में लार्वा पाए जाने पर भड़की मां -बेटी

0
102

– डेंगू की रोकथाम के लिए सहयोग दें लोग ताकि इस पर जल्द काबू पाया जाये -सिविल सर्जन

होशियारपुर। डेंगू के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन डेंगू पर काबू पाने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहा है, ऐसा ही एक मामला होशियारपुर के पाश इलाके गौतम नगर इलाके का है निजी अस्पताल में कार्यरत एक महिला डॉक्टर और उसकी मां ने अपने घर में डेंगू के मच्छर का लार्वा पकड़े जाने पर सर्वे टीम की महिला को डंडे से बुरी तरह पीटा।

मोको वॉलन्टियर रमनप्रीत ने कहा कि टीम नंबर 1 गौतम नगर गली नंबर 6 के एक घर है और अंदर एक चाय की दुकान भी है। घर के अंदर डेगू लार्वा पाए गए और स्वयंसेवकों ने लार्वा को फिल्माना शुरू कर दिया और इस बात से नाराज थे कि संगीता और उनकी बेटी मोहित, जो खुद को डॉक्टर कह रहे थे, ने उसे डंडे से पीटा और उसके साथ दुर्व्यवहार किया। स्वयंसेवक, जिसे बाहर धकेल दिया गया और वे सड़क पर एक कार के नीचे गिरने से बाल बाल बच गई । इस अवसर पर उन्हें अन्य स्वयंसेवी साथियों नरेश , अवतार सिंह, विकास डंडवाल और सोहन सिंह छुड़ाने के बावजूद भी उपरोक्त मां – बेटी उसे पीटती रहीं । घटना के बाद साथियों ने रमनप्रीत को सिविल अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती कर उसकी पट्टी बांध दी.इस संबंध में थाना सिटी में मां -बेटी के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज़ करवा दी है।
जिला प्रशासन से न्याय की मांग करते हुए एंटी लार्वा प्रभारी बसंत कुमार ने कहा कि “अगर शहर के लोग स्वयंसेवकों और स्वास्थ्य विभाग की टीमों को इस तरह से गाली देना शुरू कर देते हैं, तो हम लोगों को डेगू के प्रकोप से कैसे बचा सकते हैं।”

इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. रंजीत सिंह घोत्रा ​​कहा कि यह बहुत बुरा है. इस संबंध में एसएसपी होशियारपुर को भी लिखा है. उन्होंने शहर के लोगों से स्वास्थ्य विभाग की टीमों का सहयोग करने की अपील की ताकि हम इस बीमारी पर काबू पा सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here