जालंधर में लगे गंदगी के ढेर,निगम कर्मचारी संगठन हड़ताल पर

    0
    48

     जनगाथा /जालंधर / नगर निगम के मुलाजिम आज(26 फरवरी) से  अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। वेतन नहीं मिलने से गुस्साए कर्मचारी संगठनों ने शुक्रवार को बैठक कर इसका फैसला लिया था। हड़ताल के दौरान शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह ठप रहेगी।

    शुक्रवार को नगर निगम कार्यालय में पंजाब सफाई मजदूर फेडरेशन, नगर निगम तालमेल कमेटी, पंजाब स्टेट म्यूनिसिपल कर्मचारी दल, म्यूनिसिपल इंप्लाइज यूनियन, सफाई मजदूर यूनियन, एससीबीसी इंप्लाइज यूनियन, सफाई सेवक संघ, सीवर मैन यूनियन, ड्राइवर एंड टेक्निकल वर्कर्स यूनियन, सेवादार यूनियन, ऑफिस स्टाफ ड्राइवर यूनियन, माली-बेलदार यूनियन, पंजाब सीवर मैन यूनियन आदि के प्रतिनिधियों की नगर निगम कार्यालय में बैठक हुई। इसमें फैसला लिया गया कि बुधवार को सांकेतिक हड़ताल कर नगर निगम प्रशासन को सभी मुलाजिमों का वेतन शुक्रवार तक जारी करने का अल्टीमेटम दिया गया था। पर निगम प्रशासन की ओर से इसे गंभीरता से नहीं लिया गया। इसके चलते सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरु कर दी गई।

    हड़ताल कारण मुलाजिम काम नहीं करेंगे और शहर में पूरी सफाई व्यवस्था भी ठप रहेगी। शुक्रवार को हुई बैठक के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए पंजाब सफाई मजदूर फेडरेशन के प्रधान चंदन ग्रेवाल ने बताया था कि सभी संगठनों की ओर से एकमत से अनिश्चितकालीन हड़ताल का फैसला किया गया है। मुलाजिमों को समय से वेतन नहीं देने का सिलसिला बीते सात-आठ महीनों से चल रहा है। मुलाजिमों की ओर से प्रशासन को पूरा सहयोग दिया जा रहा है, पर अब प्रशासन की ओर से हर महीने फंड की दिक्कत का बहाना स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि विधायकों को वेतन मिलने में दिक्कत नहीं आती, उनके करोड़ों रुपए के खर्च के लिए बजट की कोई कमी नहीं है, तो फिर मुलाजिमों के मामले में सरकार के हाथ-पांव कैसे फूल जाते हैं। चंदन ने कहा कि जब तक सभी मुलाजिमों को वेतन नहीं मिल जाता, हड़ताल जारी रहेगी। प्रशासन की कुछ मुलाजिमों को वेतन जारी कर देने और कुछ को इंतजार कराने की बात नहीं मानी जाएगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here