चुनावी गुंडागर्दी रोकने के लिए सभी चुनाव एक साथ हों: बादल

    0
    44

    जनगाथा /बठिंडा /पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री व अकाली दल के बुजुर्ग नेता प्रकाश सिंह बादल महंत गुरबंता दास के मूक-बधिर बच्चों वाले स्कूल में अचानक पहुंचे। उन्होंने बच्चों से मिलकर बातें करने के बाद उन्हें उपहार दिए। इसके बाद उन्होंने कहा कि चुनावों में गुंडागर्दी रोकने के लिए पंचायत से लेकर लोकसभा तक के चुनाव इकट्ठे ही करवाए जाएं तो बहुत अच्छा है, क्योंकि अलग-अलग समय पर चुनाव होने के चलते चुनाव आचार संहिता लगने के कारण विकास कार्य रुक जाते हैं और लोगों का ध्यान भी चुनाव की तरफ  हो जाता है। इकट्ठे चुनाव करवाना केंद्र सरकार का काम है, जिसके लिए मोदी सरकार लगातार विचार कर रही है।

    हाल ही में हुए एक घोटाले में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के दामाद का नाम आने संबंधी पूछे गए सवाल के जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री बादल ने कहा कि घोटाला करने वाला आरोपी चाहे कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाना चाहिए, पर ऐसे घोटालों में किसी निर्दोष को भी नहीं फंसाया जाना चाहिए। सरकार पूरी तरह से ऐसे घोटालों की जांच करवाकर सही पाए गए आरोपियों के खिलाफ  जल्द कार्रवाई करना सुनिश्चित करे। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव फिरोजपुर से लडऩे संबंधी लगाए जा रहे कयासों के बारे में बादल ने कहा कि समय आने पर बात कर निर्णय लिया जाएगा कि कौन सा नेता कहां से चुनाव लड़ेगा।

    इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री बादल ने कहा कि मूक-बधिर बच्चों के स्कूलों को सरकार अपने हाथ में ले तो उन्हें 95 फीसदी सुविधाएं जल्द मिलेंगी लेकिन प्रशासन के हाथों में न होने के चलते ऐसे बच्चे सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं। अगर आने वाले समय में उनकी सरकार फिर से पंजाब में आई तो वह ऐसे स्कूलों को अपनी सरकार अधीन कर लेंगे। मूक-बधिर स्कूली छात्रों को सभी सुविधाएं सरकार द्वारा मुहैया करवाई जानी चाहिएं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here