चंदूमाजरा ने बीते 5 सालों के दौरान लोकसभा में श्री आनंदपुर साहिब का मात्र 5 बार जिक्र किया: मनीष तिवारी

    0
    148

    गढ़शंकर (होशियारपुर)श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार मनीष तिवारी ने आरोप लगाया है कि मौजूदा सांसद और अकालीभाजपा उम्मीदवार प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने संसद के अंदर और बाहर इस हल्के को धोखा दिया है।

    यहां कार्यकर्ताओं की विशाल बैठक को संबोधित करते हुए तिवारी ने आरोप लगाया कि मौजूदा सांसद के हल्के के साथ भेदभाव के चलते बीते 5 सालों के दौरान लोकसभा मेंश्री आनंदपुर साहिब का मात्र 5 बार ही जिक्र किया गया और वह भी सिर्फ लिखित में, जिससे साफ होता है कि वह सदन में गए ही नहीं।

    उन्होंने आरोप लगाया है कि चंदूमाजरा ना सिर्फ हल्के से गायब रहे, बल्कि उन्होंने संसद के अंदर भी श्री आनंदपुर साहिब से जुड़े मुद्दों को उठाने की जहमत नहीं उठाई।जिन्होंने एक कीमती अवसर खो दिया।

    उन्होंने कहा कि चंदूमाजरा को सनौर की ज्यादा चिंता थी, जो उनके बेटे का विधानसभा क्षेत्र है और पटियाला लोकसभा क्षेत्र में पड़ता है, जिसके लिए उन्होंने आनंदपुरसाहिब के फंड ट्रांसफर कर दिए।

    बाद में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने हलके के विकास को लेकर एक पूरी रणनीति तैयार की है और वादा करते हैं कि वहलुधियाना से दोगुने विकास कार्य इस हल्के मे करेंगे।

    उन्होंने लुधियाना में लाए गए कुछ प्रोजेक्ट्स का जिक्र करते हुए लोगों से कहा कि आप वहां रहने वाले अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से पता करवा सकते हैं कि उन्होंनेलुधियाना के लिए टैक्सटाइल पार्क, स्पेशल शताब्दी गाड़ी, एयर सेवाएं, 1500 करोड़ रुपये ग्रामीण सड़कों के विकास हेतु मंजूर करवाए थे।

    पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस बात से इंकार किया कि पंजाब में अब भी पूर्व अकाली-भाजपा शासनकाल की तरह नशे उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि हमने पंजाब से नशों का खात्माकरने का वायदा किया था और हम इसके लिए वचनबद्ध है, जो कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि अकाली-भाजपा शासनकाल में नशा तस्करों को सरकारी संरक्षण प्राप्त था, जो कांग्रेस की सरकार में नहीं है।

    बरगाड़ी बेअदबी मामले की जांच कर रही एसआईटी से आईजी पुलिस कुंवर विजय प्रताप सिंह को ट्रांसफर किए जाने सबंधी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि चुनावआयोग को ऐसा नहीं करना चाहिए था, जिससे जांच प्रक्रिया पर असर पड़ेगा।

    जगमीत बराड़ के अकाली दल में शामिल होने को लेकर एक सवाल पर कांग्रेस उम्मीदवार ने कहा कि वह उनके पुराने साथियों में से एक हैं और उनके फैसले पर वह कोईटिप्पणी नहीं करना चाहते। लेकिन सिर्फ इतना जरूर कहेंगे कि बराड़ कहीं भी ज्यादा तब तक नहीं रुकते और निश्चित तौर पर नहीं कह सकते कि वह अकाली दल मेंकितना वक्त रुकेंगे और 19 मई तक भी ठहरेंगे या फिर नहीं।

    तिवारी ने खुलासा किया है कि वह लोकसभा क्षेत्र में पड़ते सभी 9 विधानसभा हलकों में पार्टी वर्करों के साथ बैठक का पहला दौर पूरा कर चुके हैं।

    उन्होंने सफलतापूर्वक कार्यक्रमों का आयोजन करने के लिए सभी नेताओं, जिनमें राणा केपी सिंह, चरणजीत सिंह चन्नी, बलबीर सिंह सिद्दू, अंगद सिंह, चौधरी दर्शन लाल, जगमोहन सिंह कंग, लव कुमार गोल्डी, बरिंदर ढिल्लों शामिल है, का धन्यवाद किया।

    उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए नामांकन से पहले ही इन बैठकों में मिले शानदार समर्थन से यह स्पष्ट हो गया है कि नतीजा क्या निकलेगा।

    तिवारी 29 अप्रैल को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here